About - us

मै श्रीमति माधुरी बाजपेयी,अपनी परिस्थितियों के अनुरूप भाव की अभिव्यक्ति में विश्वास करती हूं, में लेखनी में रूचि रखती हूं, मेरा जीवन अलग अलग रंगों से भरा है, इस लिए में चाहती हूँ, कि उन रंगों को आज की पीढ़ी को समर्पित करूं अपनी लेखनी से,मेरा बाल्य काल आध्यात्मिक सुंदरता और भी भिन्न भिन्न तरीकों से भरा पड़ा है, में भारत के मध्यप्रदेश के मण्डला शहर में निवास करती हूं,मुझे लगता है की भाव को,यदि शक्ति के जैसे उपयोग किया  जाये तो जीवन में अनेक बदलाव  देखने को मिलेंगे जिससे भाव मे श्रेष्ठता आएगी । और जीवन के सभी तरह के उत्थान में मदद मिलेगी ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

गुरु पुष्य नक्षत्र | गुरु पुष्यामृत योग | guru pushya yoga benefits in hindi