निखरे व्यक्तित्व की शक्ति(Power of rich personality)

व्यक्तित्व में लाएं निखार
           ( Bring Personality Development )

               व्यक्तित्व , व्यक्ति की मानसिक एवं शारीरिक गुणों का गतिशील संगठन है।मन,शरीर चेतन,अचेतन,तर्क और संवेग आदि व्यक्तित्व के एकीकृत सहयोगी तंत्र के सहयोगी भाग हैं ।


व्यक्तित्व निखार के लिए कुछ आवश्यक बातें हैं जिनमें शामिल है:-

 1)व्यक्तित्व की एकता, 

2)सफलता की पूर्णता का प्रयास,

3) सामाजिक रुचियां,

व्यक्तित्व में लाएं निखार  ( Bring Personality Development )
4) जीवन शैली सृजनात्मक शक्ति ,

5)मनुष्य निरंतर प्रगति करते हुए पूर्णता प्राप्त करने वाला प्राणी माना गया है ,आदि-आदि।

निखरे व्यक्तित्व की शक्ति(Power of rich personality)

सुंदरता के अलावा भी  व्यक्तित्व की पहचान है

              बाहरी तौर पर सुंदर दिखने वाले व्यक्ति की तुलना मैं साधारण व्यक्ति के चेहरे पर छाई मधुर मुस्कान उसके बाद में शिष्टाचार और बातचीत करने का सलीका हमारे दिल दिमाग में एक खास पहचान बना लेता है हर मनुष्य का अपना अलग - अलग व्यक्तित्व,अपनी अलग- अलग पहचान है, इसकी विशेषता यही है कि लाखों करोड़ों लोगों की भीड़ में वह अपने निराले व्यक्तित्व के कारण पहचान लिया जाता है ।

दूसरों का प्रशंसा का पात्र बनना

                अतएव व्यक्ति की संपूर्ण छवि का नाम ही व्यक्तित्व है,जो वह दूसरों के सामने बनाते हैं अर्थात यदि आपकी इच्छा भी सकारात्मक होती है तो आप दूसरों के प्रशंसा के पात्र बन जाते हैं इसी तरह यदि आप की छवि खराब होती है तो आप अपमान या निंदा के पात्र बन सकते हैं ।

इसे भी पढ़िये जीवन मे सकारात्मक बीज का अंकुरण कैसे हो ,जिससे मन का स्थायित्व बढ़े।

                  मुख्यतः कहा जाए कि किसी भी व्यक्ति का व्यक्तित्व उसके केवल 1 गुण के कारण नहीं बनता बल्कि इसमें उसकी संपूर्ण छबियाँ - जैसे ज्ञान,अभिव्यक्ति ,सहनशीलता,गंभीरता,प्रस्तुतीकरण आदि होतीं हैं । हर व्यक्ति उस पत्थर की तरह है जिसके भीतर एक सुंदर मूर्ति छिपी होती है और जिसे एक शिल्पी की आंख देख पाती है। 

              वह उसे तराशकर  सुंदर मूर्ति में बदल सकता है । परन्तु मूर्ति पहले से ही पत्थर में मौजूद होती है शिल्पी तो बस उस फालतू पत्थर को एक तरफ कर देता है जिसमें मूर्ति ढकी होती है। 

इस तरह से आएगा व्यक्तित्व में निखार  (Bring Personality Development )

            जैसे किसी पेड़ पर एक जैसे पत्ते नहीं होते, वैसे ही हर व्यक्ति में अंतर होता है सभी में कुछ विशेषता-कमी होती हैं, बात सिर्फ इन्हें पहचानने और अच्छे गुणों को आत्मसात करने और बुरे गुणों का त्याग करने की है अर्थात - हम अपने व्यक्तित्व में हमेशा निखार ला सकते हैं इस ओर सबसे पहले अपने मन मस्तिष्क में सकारात्मक सोच लानी चाहिए । तात्पर्य यह है कि यदि हम सदैव सकारात्मक विचार रखेंगे तो हमेशा सृजनात्मक कार्य करेंगे। क्योंकि व्यक्ति के व्यक्तित्व को एक जटिल ऊर्जा तंत्र माना जा सकता है व्यक्तित्व विकास में मनोशक्ति का वितरण और उसका उपयोग सकारात्मक रूप से करना व्यक्तित्व में निखार लाने का सफल प्रयास है।              व्यक्तित्व में लाएं निखार(Bring Personality Development )

नोट : आपको निखरे व्यक्तित्व की शक्ति(Power of rich personality)  लेख पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा share करें व मेरे फेसबुक page को like करें ,whatsup group को join कीजिये। मुझे instagram पर भी फॉलो कीजिये

श्री मति माधुरी बाजपेयी

मण्डला, मध्यप्रदेश,भारत

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

हिन्दू नव वर्ष | नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं | nav varsh ki shubhkamnaye in hindi